Friday, September 24, 2010

उनके कान

उनके कान,
क्यों वह सुनते हैं
जो सुनना नहीं चाहते हैं वे 
या,
दिखाना नहीं चाहते हैं 
कि उन्होंने कुछ सुना.

वे सुनना चाहते हैं वह सब
जो लोग उनको सुनाना चाहते हैं
फिर क्यों
उनका चुनाव
व्यक्तियों का है
न कि
वे "क्या" सुनाना चाहते हैं
उसका...


(20th Sept 2010, Shillong)