Tuesday, December 21, 2010

अक्सर अच्छा लगता है

अक्सर 
अच्छा लगता है
विदेश मे होना
इस देश मे होना
भूटान मे होना.

यहाँ के लोग,
यहाँ की संस्कृति
यहाँ के सपने
यहाँ का तंत्र
व शासन व्यवस्था
इस सत्य की अनुभूति कराते हैं.

यह वास्तविकता मे 
मेरा दूसरा घर है
भारत से वाहर
भारतीय होने पर गर्व
या 
भारतीय होने की शर्म.
भारतीयों के प्रति इनकी 
अवधारणा 
शायद ठीक ही है.
भारत का महान स्वरुप
भारत की विविधता  
भारत की राजनीति
भ्रष्टाचार मे लिप्त
तंत्र व
शासन व्यवस्था.

मुझे ये भारतीय मानते हैं
या अभारतीय
या भूटानी   
पता नहीं
परन्तु इनकी सोच मे
इनकी अवधारणा मे
काफी सच्चाई है.

मेरी अवधारणा मे भी 
भूटान
वो भूटान नहीं है
जो आज से दस वर्ष  
पहले था 

प्रजातांत्रिक तंत्र
ईमानदार शासन
साफ़ सुथरी सड़के  
अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता
इस तम्बाखू रहित 
बौद्ध देश में.

अक्सर 
अच्छा लगता है 
इस देश मे होना..... 
इतने वर्षों 
उपरांत...