Sunday, July 1, 2018

जाले

कमरे के कोने में
किताबों की अलमारी में
चौके में रखे मसाले के डिब्बों के ऊपर
कुर्सी-मेज़ के इर्द-गिर्द

हर उस जगह
हर उस वस्तु के आसपास
जिसका प्रयोग काफी समय से नहीं किया गया है
या
जो हमारी रोजमर्रा की गतिविधियों से परे है

हर उस रिश्ते में जिसको हम भूल रहे हैं

लग गए हैं जाले

चलिए
उन जालों को साफ करते हैं।

कमरों में झांकते हैं
कोनों को खंगालते हैं
मसालों का स्वाद लेते हैं
किताबों के पृष्ठों को पलटते हैं
थोड़ा कुर्सी-मेज़ को हिलाते हैं

वस्तुओं का प्रयोग करते हैं
या
जिसकी आवश्यकता नहीं हैं
-जिसको उसकी आवश्यकता है-
उसको देते हैं

रोजमर्रा की गतिविधियों में कुछ प्रयोग करते हैं
रिश्तों को पुनर्जीवित करते हैं
उन्हें संभालते हैं

चलिए
जालों को तलाशते हैं
उनको साफ करते हैं।